उपचुनाव परिणाम के बाद भाजपा पर हमलावर विपक्षी दल, पढ़िए नेताओं की प्रतिक्रियाएं

लोकसभा की चार और विधानसभा की 10 सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे सामने आने के बाद एक बार फिर विपक्षी दलों ने भाजपा को निशाने पर लिया है। इन उपचुनावों को भाजपा बनाम महागठंबनध की अग्निपरीक्षा के रूप में देखा जा रहा था और विपक्षी दलों ने भाजपा के विजयी रथ को रोकने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया। इसका परिणाम यह निकला कि भाजपा को यूपी में कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा से हाथ धोना पड़ा। वहीं, बिहार में भी जेडीयू को जोकीहाट विधानसभा सीट पर आरजेडी ने शिकस्त दी।

बिहार की जोकीहाट विधानसभा सीट पर आरजेडी की जीत के बाद तेजस्वी यादव काफी आक्रामक नजर आए। उन्होंने जेडीयू प्रमुख व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर लेते हुए कहा कि अवसरवाद पर लालूवाद की जीत हुई है। उन्होंने कहा कहा, ‘नीतीश जी के गठबंधन छोड़कर जाने के बाद यह हमारी तीसरी जीत है। बिहार के लोगों को धोखा देने के लिए यह जेडीयू और भाजपा को सबक है। नीतीश जी को अपनी अन्तर्रात्मा की आवाज सुननी चाहिए और इस्तीफा दे देना चाहिए।’
जेएमएम नेता हेमंत सोरेन ने कहा कि गोमिया और सिल्ली में लोकतंत्र जीता, षड्यंत्र हारा सहनशीलता जीती, अहंकार हारा। कहा कि अब सीएम रघुवर दास को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बोले- कैराना और नूरपुर की जनता, कार्यकर्ताओं, उम्मीदवारों व सभी एकजुट दलों को जीत की हार्दिक बधाई! कैराना में सत्ताधारियों की हार उनकी अपनी ही प्रयोगशाला में, देश को बांटने वाली उनकी राजनीति की हार है। ये एकता-अमन में विश्वास करने वाली जनता की जीत व अहंकारी सत्ता के अंत की शुरुआत है।

पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी के कारण मिली हार!
हालांकि जेडीयू नेता केसी त्यागी ने हार की वजह को पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से जोड़ा है। उन्होंने कहा, ‘पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दालों के कारण देशभर में आक्रोश की लहर है। ऐसे चुनाव परिणाम का एक कारण ईंधन की कीमत में निरंतर हो रही वृद्धि हो सकती है। इसलिए दामों में बढ़ोतरी को तुरंत वापस लेना चाहिए।’

जिन्ना हारा, गन्ना जीता
कैराना में भाजपा की मृगांका सिंह के खिलाफ गठबंधन की उम्मीदवार तबस्सुम हसन की जीत लगभग तय है। भाजपा के विजयरथ को रोकने के लिए महागठबंधन के नेताओं का आरएलजी नेता जयंत चौधरी ने शुक्रिया अदा किया है। उन्होंने कहा, ‘हम उन तमाम पार्टियों को शुक्रिया अदा करते हैं, जिन्होंने हमें समर्थन दिया। अखिलेश जी, मायावती जी, राहुल जी, सोनिया जी, सीपीआइ (एम), आप और अन्य दलों को शुक्रिया। जिन्ना हारा, गन्ना जीता।’

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: